Home / उत्तर प्रदेश / अब बिजली बिल सीधे मारेगा जेब पर करंट

अब बिजली बिल सीधे मारेगा जेब पर करंट

पावर कॉरपोरेशन ने दाखिल किया बिजली दर बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव

आम उपभोक्ताओं पर पड़ेगी 1.30 रु. प्रति यूनिट महंगी बिजली की मार

meter copyलखनऊ। आम उपभोक्ताओं को एक बार फिर से महंगी बिजली का झटका लगने वाला है। उपभोक्ताओं की बिजली महंगी करने की तैयारी के तहत बढ़ोत्तरी प्रस्ताव पावर कॉरपोरेशन ने नियामक आयोग में दाखिल भी कर दिया है। पावर कॉरपोरेशन की ओर से तैयार किए गए प्रस्ताव से साफ है कि आम उपभोक्ताओं पर 1.30 रुपये प्रति यूनिट महंगी बिजली की मार पड़ेगी। साथ ही कॉरपोरेशन की ओर से ग्रामीण उपभोक्ताओं को भी महंगी बिजली की गिरफ्त में लिया है। कॉरपोरेशन की ओर से महंगी दर संबंधी प्रस्ताव नियामक आयोग में सौंप दिया गया है। दूसरी ओर उपभोक्ता परिषद ने इस प्रस्ताव का विरोध करते हुए चेतावनी दी है कि यदि प्रस्ताव वापस नहीं हुआ तो प्रदेशव्यापी जनांदोलन किया जाएगा। उपभोक्ता परिषद की मानें तो उप्र पावर कॉरपोरेशन द्वारा एक दिन पहले देर शाम गुपचुप तरीके से वर्ष 2019-20 के लिए तैयार प्रस्ताव को विद्युत नियामक आयोग में सौंप दिया गया है। परिषद की मानें तो बिजली दर बढ़ोत्तरी का यह प्रस्ताव इतिहास की सबसे बड़ी बिजली दर बढ़ोत्तरी है। आयोग में प्रस्तावित बिजली दरों में सबसे अधिक वृद्धि घरेलू बिजली उपभोक्ताओं की प्रस्तावित है। जो वृद्धि प्रस्तावित है, उसमें सभी श्रेणी के बिजली उपभोक्ताओं, वाणिज्यिक, उद्योग व अन्य श्रेणियों में जहां 10 से 15 प्रतिशत की वृद्धि प्रस्तावित है तो वहीं घरेलू बिजली उपभोक्ताओं की अब तक की यह सबसे बड़ी वृद्धि होगी।

फिक्स चार्ज की भी पड़ेगी मार

उप्र राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने कहा कि बिजली कंपनियों द्वारा जो प्रस्ताव दिया गया है, उसमें घरेलू शहरी एक किलोवाट पर फिक्स चार्ज जहां पहले 100 रुपये प्रति किलोवाट था, वहीं अब उसे 110 रुपये प्रति किलोवाट प्रस्तावित किया गया है। वहीं बीपीएल घरेलू उपभोक्ता जो अभी 50 रुपये प्रति किलोवाट फिक्स चार्ज देते हैं, उन्हें अब 75 रुपए प्रति किलोवाट प्रतिमाह प्रस्तावित किया गया है।

सीएम-ऊर्जा मंत्री से मांग

उपभोक्ता परिषद अध्यक्ष ने सीएम और ऊर्जा मंत्री जी से मांग की है कि वे पूरे मामले पर हस्तक्षेप कर प्रस्तावित वृद्धि को वापस करायें। सबसे बड़ा चौंकाने वाला मामला तो यह है कि प्रदेश की बिजली कंपनियों ने बीपीएल गरीब बिजली उपभोक्ताओं, जिन्हें पहले 100 यूनिट तक सीमित किया गया था, अब उन्हें मात्र 50 यूनिट पर सीमित कर दिया गया है।

दर बढ़ोत्तरी प्रस्ताव (वर्ष 2019-20)

यूनिट-0-150
वर्तमान रेट (घरेलू)-4.90 रु. प्रति यूनिट
प्रस्तावित रेट-6.20 रुपये प्रति यूनिट
यूनिट-151-300
वर्तमान रेट (घरेलू)-5.40. रु. प्रति यूनिट
प्रस्तावित रेट-6.50 रुपये प्रति यूनिट
यूनिट-301-500
वर्तमान रेट (घरेलू)-6.20 रु. प्रति यूनिट प्रस्तावित रेट-7.00 रुपये प्रति यूनिट
यूनिट-500
वर्तमान रेट (घरेलू)-6.50 रु. प्रति यूनिट प्रस्तावित रेट-7.50 रुपये प्रति यूनिट
घरेलू बीपीएल
वर्तमान रेट (घरेलू)-3.00 रु. (100 यूनिट तक)
प्रस्तावित रेट-3.00 रु. (50 यूनिट तक)
घरेलू ग्रामीण अनमीटर्ड
वर्तमान रेट-400 रु. प्रति किलोवॉटट/माह
प्रस्तावित रेट-500 रु. प्रति किलोवॉट/माह

About Editor

Check Also

tejas train

महंगा होगा तेजस का खाना, कोटा व पास अमान्य

लखनऊ। लखनऊ से दिल्ली के बीच दौडऩे वाली तेजस एक्सप्रेस में यात्रियों को परोसा जाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>