Home / Breaking News / आईटी छापे में मिले करोड़ों के जेवर, नकदी

आईटी छापे में मिले करोड़ों के जेवर, नकदी

  • कानपुर- लखनऊ में पान मसाला, मिठाई व रीयल एस्टेट कारोबारियों के ठिकानों पर छापेमारी में मिली 59 प्रॉपर्टी डीड

03_01_2019-Chhappan_Bhog-2बिजनेस लिंक ब्यूरो
लखनऊ। कानपुर और लखनऊ में पान मसाला, मिठाई और रीयल एस्टेट कारोबारी व शेयर ट्रेडिंग कंपनी में आयकर विभाग की छापेमारी में खबर लिखे जाने तक एक करोड़ रुपये नकद, पांच किलो सोना, 15 बैंक लॉकर व 59 प्रॉपर्टी डीड समेत कई दस्तावेज जब्त किए जा चुके हैं। आयकर विभाग की टीम को चारों कारोबारियों के कई नए ठिकानों के बारे में जानकारी मिली है, जहां टीमें भेजी गई हैं। कारोबारियों ने चार फर्जी कंपनियां बनाकर बोगस लांग टर्म कैपिटल गेन के जरिए करीब 50 करोड़ की रकम जुटाई, जिसे गोमतीनगर विस्तार के सेक्टर सात में रीयल एस्टेट के प्रोजेक्ट आरेंज केजल्स में निवेश किया जा रहा था।
प्रधान आयकर निदेशक जांच कुमार अमरेंद्र ने बताया कि अभी तक कानपुर और लखनऊ में 29 ठिकानों पर की गई कार्रवाई में 50 करोड़ की हेराफेरी सामने आई है। बीते शुक्रवार को दिनभर छापेमारी की कार्रवाई जारी रही। चारों कारोबारियों के कुछ नए ठिकाने मिले हैं जहां टीमें सर्च कर रही हैं। टैक्स चोरी के अलावा बेनामी संपत्तियों का भी खुलासा हो सकता है। उन्होंने बताया कि कानपुर में चार जगहों पर टीम भेजी गई थी। वहां नयागंज व शक्करपट्टी स्थित जय प्रकाश शर्मा की बीआर ट्रेडिंग कंपनी, पार्वती बागला रोड स्थित शर्मा के आवास और एक गोदाम में छापे मारे गए। बाकी ठिकाने लखनऊ के कारोबारियों के हैं। इनमें के फ्लेवर्स के मदनलाल गुप्ता, छप्पन भोग के रवींद्र गुप्ता व शेयर ट्रेडिंग कंपनी व चारों कारोबारियों की बनाई फर्जी कंपनियों के लिए ब्रेकरेज करने वाली सप्रू मार्ग स्थित फेयर इंटरमीडिएट इनवेस्टमेंट प्राइवेट लि. शामिल हैं। आयकर टीम ने इन कारोबारियों व कंपनी के साउथ सिटी, गोमतीनगर, बीरबल साहनी मार्ग, विभूतिखंड में शालीमार टाइटेनियम अपार्टमेंट समेत नवल किशोर रोड स्थित कुछ ठिकानों पर कार्रवाई की। छप्पन भोग में टीम को 50 लाख नकद मिले, इनमें से 18 लाख के रिकॉर्ड मौजूद बताए जा रहे हैं। सभी कारोबारियों के पास 15 से अधिक लॉकर मिले हैं, जिन्हें सीज कर दिया गया है। फ्लेवर्स कंपनी के मालिकों के पास से 59 डीड मिली हैं।

यूरो, पौंड व स्विस फ्रैंक बरामद
एक कंपनी के संचालक जयप्रकाश शर्मा के ठिकानों से आयकर टीम ने 4.80 लाख रुपये कीमत की विदेशी मुद्रा भी बरामद की। इसमें 1.34 लाख रुपये के 1495 ब्रिटिश पौंड, 1.64 लाख के 2095 यूरो और 1.31 लाख के 2454 यूएस डॉलर के साथ स्विस फ्रैंक और इंडोनेशिया, बुडापेस्ट व यूएई की करेंसी बरामद की गई।

उत्तराखंड के भी अधिकारी शामिल
लखनऊ- कानपुर के 29 ठिकानों पर जांच के लिए गठित करीब 300 अधिकारियों की टीम में यूपी के साथ उत्तराखंड के भी आयकर अधिकारी शामिल हैं। इनके साथ पुलिस व पीएसी के भी करीब सवा सौ जवान छापे में सुरक्षा के लिए तैनात हैं।

सहयोग नहीं कर रहे कारोबारी
आयकर अधिकारियों के मुताबिक कारोबारियों द्वारा सहयोग नहीं किया जा रहा है। न तो वे अपनी तरफ से काले धन को लेकर कोई स्वीकारोक्ति दे रहे हैं और न ही ठीक से जवाब दे रहे हैं।

90 बोतल विदेशी स्कॉच जब्त
आयकर टीम को विदेशी स्कॉच की 90 बोतलें भी मिलीं। अधिकतम सात बोतलें रखने की अनुमति के कारण स्टेट एक्साइज की टीम को बुलाकर शराब की बोतलें उनके हवाले कर दी गई। इसे लेकर अब एक्साइज की ओर से भी मामला दर्ज किया गया है।

फर्जी कंपनियों के शेयर बेच कर कमाया मोटा मुनाफा
प्रधान आयकर निदेशक जांच ने बताया कि चारों कारोबारियों की बनाई चार फर्जी कंपनियों के पास न कोई संपत्ति थी, न ही वह कोई कारोबार करती थीं। कंपनियों के शेयरों की ताबड़तोड़ खरीद-फ्रोख्त कर मार्केट में दाम 50 गुना तक बढ़ा दिए। बाद में शेयर बेचकर मोटा मुनाफा कमाया। अवैध कमाई को चारों कारोबारियों ने ऑरेंज केजल्स प्रोजेक्ट में निवेश किया था। शेयर ट्रेडिंग के इस खेल में चारों कंपनियों के लिए सपू्र मार्ग स्थित फेयर इंटरमीडिएट इन्वेस्टमेंट कंपनी ने ब्रेकरशिप की थी। उक्त कंपनी भी फ्लेवर्स के संदीप मित्तल व महेश मित्तल की हैं। बीते शनिवार को भी छापेमारी जारी रही।

About Editor

Check Also

MAp

गूगल मैप रखेगा अवैध कालोनियों पर गहरी नजर

सॉफ्टवेयर तैयार होते ही करायी जाएगी डिजिटल मैपिंग लखनऊ। किसी भी कॉलोनी या समूह आवास …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>