Breaking News
Home / Breaking News / एयरपोर्ट-मुंशीपुलिया तक बिछी पटरियां, जनवरी से दौड़ेगी मेट्रो

एयरपोर्ट-मुंशीपुलिया तक बिछी पटरियां, जनवरी से दौड़ेगी मेट्रो

IMG_1438बिजनेस लिंक ब्यूरो

लखनऊ। एलएमआरसी के नार्थ साउथ कॉरिडोर फेज वन के अंतर्गत चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट स्थित मेट्रो स्टेशन से मुंशीपुलिया स्टेशन तक पटरियों को बिछाये जाने का काम पूरा कर लिया है। इस महीने में बिजली की लाइन व टै्रक्शन का काम भी पूरा हो जाएगा। जनवरी के दूसरे सप्ताह में ट्रायल शुरू हो जाएगा। एलएमआरसी अभी तक शुभ मुर्हूत में ही काम करता रहा है। चूंकि अभी खरमास लग चुका है और 17 जनवरी से ही शुभ काम शुरू हो सकेंगे। इसलिए 17 से ट्रायल शुरू करने की तैयारी की गई है। ट्रायल सफल होने व चुनाव आचार संहिता लगने से पहले एयरपोर्ट से मुंशीपुलिया रूट पर कॉमर्शियल रन शुरू हो जाएगा।चारबाग से केडी सिंह बाबू स्टेडियम तक भूमिगत रूट व स्टेशन तैयार हो चुके हैं। केडी सिंह से मुंशीपुलिया तथा ट्रांसपोर्ट नगर से अमौसी व अमौसी से एयरपोर्ट तक 95 प्रतिशत काम पूरा हो गया है। ट्रैक भी बिछ गया है। बिजली लाइन के लिए ट्रैक्शन का काम भी इस महीने पूरा हो जाएगा। मुंशीपुलिया रूट पर सभी स्टेशनों का स्ट्रक्चर तैयार हो गया है। एक महीने में फिनिशिंग के साथ यह बनकर तैयार हो जाएंगे। कॉमर्शियल रन के लिए 20 ट्रेनें लखनऊ मेट्रो को दीपावली से पहले ही मिल चुकी हैं। इनका ट्रायल भी हो रहा है।

मिलेंगी आधुनिक सुविधाएं
जमीन के नीचे मेट्रो की एक नई दुनिया होगी। 3.77 किमी की इस एरिया में लाखों यात्रियों के लिए हर वह सुविधा उपलब्ध होगी, जो जमीन के ऊपर स्थित मेट्रो स्टेशनों पर उपलब्ध है। पूर्णतया वातानुकूलित इन स्टेशनों पर खाने-पीने के स्टॉल के अलावा, म्यूजियम व इमरजेंसी सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी। अधिकारियों का कहना है कि भूमिगत रूट के साथ एलीवेटिड सेक्शन का काम भी पूरा हो रहा है। ऐसे में अब 12.5 किमी में चारबाग से मुंशीपुलिया के बीच मेट्रो रेल संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) का सुरक्षा ट्रायल एक साथ ही किया जाएगा।

भूमिगत मेट्रो में ये होंगी सुविधाएं
भूमिगत तीन स्टेशनों बनकर तैयार हैं। सौ साल की भीड़ को देखते हुए स्टेशन डिजाइन किए गए हैं। इसलिए अगर लाखों यात्रियों की भीड़ होती है तो भी स्टेशनों पर उपलब्ध सुविधाएं कम नहीं पड़ेंगी। फस्र्ट फ्लोर पर टिकट काउंटर, प्रॉपर्टी डेवलपमेंट एरिया स्टॉल, स्टाफ रूम, एटीएम व यात्री सुविधाओं से जुड़े काउंटर होंगे। स्मार्ट कार्ड रिचार्ज करने की सुविधा भी फस्र्ट फ्लोर पर होगी। यहां तीनों पालियों में स्टाफ लगाया जाएगा, जो भूमिगत स्टेशनों में पानी, बिजली और एसी की निगरानी करेंगे। यहां कई सौ किलोवाट के जेनसेट भी इमरजेंसी के लिए रखे जाएंगे।

इस स्टेशन पर होगा म्यूजियम
सचिवालय मेट्रो स्टेशन पर यात्रियों को आकर्षित करने के लिए लखनऊ मेट्रो म्यूजियम बनवा रहा है। इस म्यूजियम में नार्थ साउथ कोरीडोर के सफर को संजोने की तैयारी है। यहां ऐसा म्यूजियम बन रहा है कि यात्री आधे घंटे में मेट्रो का सितंबर 2014 से अप्रैल 2019 तक का सफर जान सकेंगे। बता दे कि यात्रियों के लिए 1 अप्रैल 2019 से चौधरी चरण सिंह से मुंशी पुलिया के बीच मेट्रो चलनी है। यहां प्रवेश पूरी तरह से नि:शुल्क रहेगा।

स्टेशन होंगे अधिक स्मार्ट
भूमिगत स्टेशनों की लंबाई 240 मीटर होगी। सडकों पर सिर्फ प्रवेश व निकास द्वार के लिए स्थान लिया जाएगा। स्टेशन का विस्तार व सुविधाएं भूमिगत होंगी। सड़कों के ऊपर भी स्टेशनों को नया लुक देने का काम एलएमआरसी ने किया है। सचिवालय स्टेशन को बापू भवन की की इमारत की तरह का लुक दिया गया है वहीं हजरतगंज स्टेशन की सजावट में ग्लास का काफी प्रयोग किया गया है।

रूट पर यह है स्थिति

  • पॉलीटेक्निक फ्लाईओवर स्पान – 180 मीटर
    गोमती नदी स्पान – 175 मीटर
    नेताजी सभाष पार्क स्पान – 45 मीटर
    करामत कालेज, निशातगंज स्पान – 60 मीटर
  • केडी सिंह स्टेडियम से मुंशी पुलिया
    21 छोटे बड़े स्पान बनाए
    541 पिलर्स बनाए गए
    2121 पाइल का निर्माण हुआ
    262 पीयर कैप बनाए गए
    39 कैंटेलीवर पीयर कैप बने

About Editor

Check Also

unnamed

मुख्यमंत्री ने उप्र के छह जिलों के एल-2 कोविड-19 चिकित्सालयों का किया लोकार्पण

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मीरजापुर, भदोही, शामली, बरेली, अमेठी और संत कबीर नगर जिलों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>