Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / उपभोक्ताओं को बढ़ती बिजली दरों से राहत दिला रहा सोलर पैनल

उपभोक्ताओं को बढ़ती बिजली दरों से राहत दिला रहा सोलर पैनल

सोलर पैनल लगवाने वाले उपभोक्ताओं को 40 प्रतिशत कम हुआ बिजली बिल

लेसा में अब तक 1800 उपभोक्ताओं ने घरों में लगवाए सोलर पैनल

सोलर पैनल लगे घरों में नेट मीटर के साथ लगाए गए हैं स्मार्ट मीटर

नेट के साथ स्मार्ट मीटर लगने से उपभोक्ताओं को मिल रहा एक्यूरेट रीडिंग का बिल

solar pannelलखनऊ। बिजली के बढ़ते रेट के चलते लेसा में अब उपभोक्ता सोलर एनर्जी की ओर रुख कर रहे हैं। सोलर पैनल के जरिए उपभोक्ताओं को खुद उपभोग की जाने वाली बिजली भी मिल रही है और उन्हें बढ़ी बिजली दर से राहत भी मिल रही है। बिजली बचत को लेकर उपभोक्ता सोलर पैनल की तरफ धीरे-धीरे कदम बढ़ा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर लेसा प्रबंधन की ओर से सोलर पैनल उपभोक्ताओं को समय से बिजली बिल देने के लिए नेट मीटरिंग पर खासा फोकस किया गया है। खास बात यह है कि इस मीटरिंग से उपभोक्ताओं को बिलकुल सही बिजली बिल मिल रहा है। लेसा क्षेत्र की बात की जाए तो सिस और ट्रांसगोमती मिलाकर करीब 1800 घरों में सोलर पैनल लगवाए गए हैं। वहीं जिन घरों में सोलर पैनल लगे हैं वहां स्मार्ट मीटर के साथ-साथ नेट मीटर भी स्थापित किया गया है, ताकि एक्यूरेट रीडिंग का बिजली बिल उपभोक्ताओं को मिल सके। जिन घरों में सोलर पैनल लगे हैं, उन घरों के बिजली बिल में खासी कमी दर्ज की गयी है। अगर किसी उपभोक्ता का बिल महीने में 8 से 10 हजार रुपये आता था, तो सोलर पैनल लगने के बाद यह आंकड़ा 5 से 6 हजार रुपये तक पहुंच गया है। वहीं बात अगर मध्यांचल डिस्कॉम की बात की जाए तो करीब छह से सात हजार घरों में सोलर पैनल लगवाए गए हैं। खास बात यह है कि सोलर पैनल के लिए आवेदन खुद उपभोक्ताओं की ओर से किया गया है। साथ ही सोलर पैनल लगने से बिजली की अच्छी बचत भी हो रही है। लेसा प्रबंधन ने जिन उपभोक्ताओं के घरों में स्मार्ट मीटर के साथ-साथ नेट मीटर लगवाए गए हैं, उन सभी का अध्ययन शुरू कर दिया गया है। जिससे यह पता लग सके कि उपभोक्ताओं की ओर से जो बिजली, विभाग को शिफ्ट की जा रही है उसका एक्यूरेट आंकड़ा कितना है। साथ ही यह भी देखा जा रहा है कि एक घर में औसतन बिजली की कितनी बचत हो रही है। बिजली विभाग की ओर से उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए 1912 हेल्पलाइन सेवा को ट्विटर से भी अटैच कर दिया गया है। हेल्पलाइन सेवा पर कोई भी व्यक्ति बिजली से जुड़ी कोई भी शिकायत दर्ज करा सकता है। दरअसल, अक्सर ऐसे मामले सामने आते हैं जिसमें हेल्पलाइन सेवा 1912 पर उपभोक्ता को अपनी शिकायत का सही रिस्पांस नहीं मिल पाता है। इस बात को ध्यान में रखते हुए हेल्पलाइन को और प्रभावी बनाने के लिए ही यह कदम उठाया गया है। उपभोक्ताओं का रूझान सोलर पैनल की ओर तेजी से बढ़ा है। उपभोक्ता अधिकतर आवेदन दो किलोवॉट, तीन किलोवॉट और पांच किलोवॉट के लिए कर रहे हैं। हालांकि कॉमर्शियल सेक्टर में सोलर पैनल का अभी बहुत बड़ा रोल सामने नहीं आ रहा है।

एक नजर

1800 उपभोक्ताओं ने लेसा में घरों में लगवाए सोलर पैनल
6 हजार के करीब उपभोक्ताओं ने सोलर पैनल लगवाए डिस्कॉम में
2 किलोवॉट से लेकर 5 किलोवॉट के पैनल रहे लगवा
40 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गयी बिजली बिल में

बढ़े बिजली बिल को लेकर उपभोक्ता जागरुक हो रहे हैं, इसलिए घरों में सोलर पैनल लगवा रहे हैं। ऐसे उपभोक्ताओं की समम से बिलिंग हो, इसके लिए स्मार्ट मीटर के साथ नेट मीटर लगवाया जा रहा है।

संजय गोयल, प्रबंध निदेशक, मध्यांचल डिस्कॉम

About Editor

Check Also

alok-ranjan

निर्णय लेने की सर्वोच्च क्षमता जरूरी : आलोक रंजन

सूक्ष्म एवं मझोले उद्योग सर्वाधिक संभावना वाले क्षेत्र हैं। कम पूंजी और जोखिम में सर्वाधिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>