Home / उत्तर प्रदेश / लेसा, ई-सुविधा के लफड़े में फंसे आठ बिलिंग केंद्र

लेसा, ई-सुविधा के लफड़े में फंसे आठ बिलिंग केंद्र

VP5VWXH3
लखनऊ। लेसा और ई-सुविधा के लफड़े में आठ बिलिंग केंद्रों का काम ठप्प पड़ा है। लेसा और ई-सुविधा की लापरवाही का आलम यह है कि लेसा ट्रांसगोमती इलाके में आठ बिलिंग केंद्रों का काम लटक गया है। इस वजह से जानकीपुरम, इंदिरानगर, अलीगंज, प्रियदर्शनी कॉलोनी, गोमतीनगर के दो लाख उपभोक्ताओं को बिल जमा करने में राहत नहीं मिल पा रही है। बताते चलें कि गोमतीनगर विराज खंड, कमता, प्रियदर्शनी कॉलोनी, आईटीआई अलीगंज, कल्याणपुर, जानकीपुरम विस्तार, इंटीग्रल विश्वविद्यालय और सर्वोदय नगर उपकेंद्रों पर बिलिंग केंद्रों खोलने की योजना बनायी गयी थी। इन सब स्टेशनों पर बिलिंग केंद्र खोले जाने को लेकर आवश्यक कार्य अक्टूबर तक हो जाना था। लेकिन लेसा और ई-सुविधा में आपसी सामंजस्य के अभाव में नवंबर माह बीतने के बाद भी यह शुरू नहीं हो सके हैं। लेसा के अधिकारियों के मुताबिक इन स्थानों पर कनेक्टिविटी से लेकर सर्वर तक का काम पूरा कर दिया गया है। अब बस ई-सुविधा को अपने कर्मचारियों को बैठाकर बिलिंग शुरू करवानी है, लेकिन उसका काम भी ई-सुविधा वाले समय पर नहीं कर पा रहे हैं। इस कारण से यह योजना समय के बाद भी पूरी नहीं हो सकी है। उल्लेखनीय राजधानी क्षेत्र के कई इलाकों में अभी बिलिंग की सुविधा नहीं है। ऐसे में लोगों को बिल जमा करने के लिए तीन से चार किमी तक की दूरी तय करनी पड़ती है। इन स्थानों पर बिलिंग केंद्र शुरू हो जाए तो तो लोगों की भागदौड़ कम करना पड़ेगा। इन बिलिंग केंद्रों से करीब 20 करोड़ रुपये तक की वसूली बढऩे की भी उम्मीद है। मुख्य अभियंता लेसा ट्रांस गोमती प्रदीप कक्कड़ का कहना है कि हमारी ओर से सब काम हो गया है। ई-सुविधा से दिसंबर में केंद्र शुरू करवाने का आश्वासन मिला है।

About Editor

Check Also

electric bus copy

इलेक्ट्रिक बस में स्मार्ट कार्ड से मिलेगी किराये में छूट

इलेक्ट्रिक बसों में स्मार्ट कार्ड से पेमेंट पर मिलेगी 10 प्रतिशत की छूट सिटी बस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>