Home / Breaking News / हलाला का सच बता रही वेब सीरीज

हलाला का सच बता रही वेब सीरीज

  • वेब सीरीज के जरिए हलाला का मतलब साफ हो गया, लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से बनी वेब सीरीज

  • उल्लू एप्प के दर्शक कर रहे खूब पसंद, हलाला का मिल रहा पॉजीटिव रिस्पांस

नई दिल्ली। स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म की दुनिया में इन दिनों उल्लू की चर्चा का विषय ही एकदम नया है। ऐसे सामाजिक विषय पर उल्लू ने अपनी वेब सीरीज लॉच की है, जिस विषय पर या तो आम लोग बात करने से कतराते है या फिर धर्म की दुहाई दे कर टाल जाते है, बीते शुक्रवार को उल्लू पर हलाला रिलीज की गयी है, जिसकी चर्चा से न केवल फिल्मी दुनिया ने दूरी बना रखी थी, बल्कि आम लोग भी इस विषय पर बात करने से कतराते रहे हैं।

हलाला मुस्लिम समाज में तीन तलाक के बाद तलाकशुदा महिलाओं के हालात पर बनाई गई एक जज़्बाती वेब सीरीज है। डायरेक्टर दीपक पांडेय के निर्देशन में उल्लू हलाला नामक वेब सीरीज लेकर आया है, इसके आने के बाद लोगों को ये जानने का मौका मिल रहा है कि आखिर हलाला क्या है? हालांकि आज के समय में लोग इन मुद्दों पर बात करने से कतराते है, लेकिन घर के अंदर किस तरह मुस्लिम महिलाओं को तमाम घरेलू अपराध से निपटना पड़ता है, उसको बाखूबी डायरेक्टर दीपक पांडेय ने पर्दे पर उतारने का कार्य किया।

उल्लू द्वारा बनाई गई हलाला न सिर्फ अपने देश, बल्कि एशिया के मुस्लिम बहुल इलाकों में तीन तलाक के बाद मुस्लिम महिलाओं की होने वाली बदतर हालातों को झकझोर कर देने वाली सीरीज है। लेकिन इसको देखने वालों ने अभिनेता व अभिनेत्री के अभिनय की तारीफ तहे दिल से की। हलाला वेब सीरीज में मशहूर सीरियल दिया और बाती हम की पॉपुलर अभिनेत्री दीपिका सिंह, जोधा अकबर में काम कर चुके रवि भाटिया, चिडिय़ा घर में नजर आने वाली शफाक नाज, मोह मोह के धागे फेम एजाज खान अहम किरदारों में दिखाई देंगे।

halala

गौरतलब है कि जानी- मानी व प्रतिभाशाली अभिनेत्री और डांसर नीलिमा अजीम इस सीरीज में शफाक के तौर पर एक मां के रोल में नजर आयी। नीलिमा सीरीज के लीड किरदार में है, जबकि एजाज और रवि उनके पति के रोल में दिखाई दे रहे है। इस बहुप्रतीक्षित सीरीज में दीपिका सिंह ने एक वकील के किरदार में अपने अभिनय का लोहा मनवाया है।

दीपिका सिंहdeepika singh copy

हलाला वेब सीरीज में मैं वकील बनी हूं और मुस्लिम महिलाओं के लिए लड़ रही हूं, उनकी आवाज उठा रही हूं ताकि उनके साथ होने वाले अत्याचार और उत्पीडऩ के दलदल से उन्हें बाहर निकाल सकूं। कहानी काफी अच्छी है। दर्शकों को काफी पसंद आरही है। शूङ्क्षटग में काफी नर्वस थी, मेरे लिए थोड़ा मुश्किल भरा रहा, लेकिन ओवरऑल उल्लू टीम ने काफी सपोर्ट किया। मुझे खुशी है कि मुझे महिलाओं को न्याय दिलाने की जिम्मेदारी मिली। हां सेट पर मेरे लिए चुनौतियां काफी थी, लेकिन फैंन्स ने मेरे अभिनय को काफी पसंद किया। काफी लोगों से पाजीटिव कमेंट मिल रहा है।

रवि भाटियाravi bhatia copy

हलाला के लिए काफी मेहनत की थी, लेकिन ये मेहनत बेकार नहीं गयी। बड़े वर्ग से लोग अच्छे कमेंट कर रहे है। सोसाइटी में आज किस कदर अनाप-शनाप कानून की दुहाई देकर मुस्लिम महिलाओं के साथ अन्याय किया जा रहा है, वो हमने पर्दे पर उतारने का प्रयास किया है। इस्लाम में इसके लिए जो कानून बने है, उनका गलत यूज किया जा रहा है, जो गलत है। ये सब तुरंत बैन होना चाहिए। कई जगहों पर तो बाकायदा लोगों ने इसको बिजनेस बना लिया है। मैं खूश हूं कि ऐसी सामाजिक मूवी का हिस्सा रहा।

शफाक नाजshafaq naaz copy

मेरे पास जब हलाला की स्क्रीप्ट आयी तो मुस्लिम होने के नाते मैंने इस पीड़ा को समझा। लेकिन मेरे लिए अभिनय करना आसान नहीं था, लेकिन टीम के सपोर्ट के चलते मैंने इसे पूरा किया। हमारे समाज में बड़ी विडम्बना है कि कोई इस मुद्दे पर बात नहीं करना चाहता है। लोग महिला सुरक्षा और सम्मान की बाते करते हैं, वहां महिलाओं के साथ इतना बड़ा अपराध हो रहा है। धर्म के नाम पर हलाला एकदम गलत है। मैं खूश हूं कि मैं ऐसे सामाजिक मुद्दों पर आधारित जागरूकता का हिस्सा बनी।

एजाज खानeijaz khan copy

हलाला वेब सीरीज का कान्सेप्ट अच्छा ही नहीं था बल्कि रोचक था। मुसलमान होने के नाते मैं इसको स्वीकारता हूं कि कुछ लोगों ने नियमों को तोड़ मरोड़ के समाज में रखा है, जिसकी सजा उन महिलाओं को उठानी पड़ रही है, जिनका कोई दोष ही नहीं है। समाज में पढ़े- लिखे लोग आज भी इन सब चीजों में नहीं पड़ते है, लेकिन जो लोग ऐसा करते है, वो गलत है। हलाला के जरिए यही संदेश देने का प्रयास किया गया। ताकि लोग जागरूक हों और महिलाओं का सम्मान करना सीखें।

About Editor

Check Also

sevamandal01 copy

परिणाम पहले, परीक्षा बाद में

उत्तर प्रदेश सहकारी संस्थागत सेवा मंडल से हुई भर्तियों की पहचान बर्खास्त हुये उप्र को-ऑपरेटिव …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>